Matar Gardening : अब नहीं पड़ेगी बाज़ार से मटर खरीदने की ज़रूरत, इस तरीके से घर पर उगाएं और रोज़ खाए फ्रेश मटर

Jass Jass
3 Min Read

हमारे देश में मटर काफी पसंद की जाने वाली सब्ज़ी है। मटर को कई सब्जियां बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। आलू मटर हो या चाहे पनीर मटर हर एक सब्ज़ी में मटर का स्वाद ही अलग होता है। मटर में फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है। जिससे की यह सेहत के लिए भी बेहद फायदेमंद है। ज्यादा तर हम मटर को बाज़ार से ही खरीद कर लाते है परंतु मटर को घर पर भी आसानी से उगाया जा सकता है।

- Advertisement -

आज हम आपको घर पर मटर को उगाना सिखाने जा रहे है। मटर में विटामिन जैसे के ए, सी के और साथ में आयरन भी होता है। इसलिए अगर आप मटर से बनी सब्ज़ी का इस्तेमाल करते है तो इससे आपकी सेहत को भी फायदा मिलेगा। तो चलिए जानते है की मटर को घर पर कैसे उगाएं।

घर पर मटर को उगाने के लिए संपूर्ण जानकारी

किसी भी पौधे या फल और सब्ज़ी को लगाने से पहले उसकी जानकारी होना बेहद जरूरी है। मटर की अगर बात करें तो मटर के बीज को लगाने का सही समय सर्दियों में होता है। इसके बीज अंकुरण के लिए 15 से 21 डिग्री सेल्सियस का तापमान अच्छा रहता है। इसके साथ ही अगर हार्वेस्टिंग की बात करें तो दो महीने में मटर एक दम तैयार हो जाता है।

- Advertisement -

मटर लगाने की विधि

मटर के पौधे को लगाने के लिए सबसे पहले मिट्टी अच्छी होनी चाहिए। इसके लिए आप 50 प्रतिशत नॉर्मल मिट्टी, 10 प्रतिशत रेत और 40 प्रतिशत गोबर का इस्तेमाल करें। इन सभी को अच्छे से मिलाकर आप गमले में डाल दें। इसके बाद आप मटर के बीज लें। ध्यान रखें की बीज अच्छी क्वालिटी के हो और इसे एक इंच की गहराई में दबा दें।

इसके बाद आप अच्छे से बीज को मिट्टी से ढक दें और पानी डालें। आप रोज़ गमले को पानी दे परंतु ख्याल रखें की ओवरवेटरिंग न हो। जिससे की पौधा खराब हो जाए। आप गमले को रोज़ छह से सात घंटे के लिए धूप में भी रख सकते है। इसके साथ ही आप तीन चार हफ्तों बाद गमले में जैविक खाद जरूर मिलाएं। तो इस तरह दो महीने बाद मटर एक दम तैयार हो जायेंगे।

- Advertisement -

TAGGED:
Share This Article